पैगंबर विवाद पर सुलगा रांची

Reading Time: 2 minutes

उपायुक्त छविरंजन ने मेन रोड समेत शहर के कुछ अन्य इलाकों में निषेधाज्ञा लगाने का आदेश जारी किया है. प्रशासन ने एहतियात के तौर पर रांची में शुक्रवार शाम सात बजे से शनिवार सुबह छह बजे तक के लिए इंटरनेट सेवा भी निलंबित कर दी. 

रांची:  पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ कथित आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर भाजपा से निलंबित नेता नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग को लेकर रांची में विरोध प्रदर्शन हुआ. इस दौरान हुई हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई है, वहीं करीब दर्जन भर लोग घायल हुए हैं. जानकारी है कुल 22 लोग घायल हुए हैं, जिसमें 12 पुलिसकर्मी और 12 प्रदर्शनकारी हैं, दो लोगों की मौत हो गई है. हिंसा में आईपीएस अधिकारी को भी चोट आई थी, जिसके बाद प्रशासन ने देर शाम शहर के कुछ हिस्सों में निषेधाज्ञा लगा दी. मरने वालों में 22 साल का मोहम्‍मद कैफी और 24 साल का मोहम्‍मद साहिल शामिल है.

रांची के सिटी एसपी अंशुमान कुमार ने कहा कि दोनों की गोली लगने से मौत हुई है. वहीं हिंसा में आठ दंगाई और चार पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, जिन्‍हें रिम्‍स और एक अन्‍य अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. उन्‍होंने बताया कि कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है, जिनसे पूछताछ की जाएगी. उन्‍होंने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है. प्रभावित जगहों पर धारा 144 लगाई गई है. 

गौरतलब है कि जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा के बाद मौके पर पहुंचे शहर के उपायुक्त छविरंजन ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए रांची शहर के प्रभावित इलाकों में तत्काल प्रभाव से कर्फ्यू लगा दिया था और पुलिस ने बाकायदे हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में लाउडस्पीकर से इसकी घोषणा की थी. हालांकि, देर शाम करीब पौने छह बजे स्थिति नियंत्रण में देखते हुए उपायुक्त छविरंजन ने अपना आदेश बदला और कर्फ्यू के स्थान पर मेन रोड समेत शहर के कुछ अन्य इलाकों में निषेधाज्ञा लगाने का आदेश जारी किया है. 

हिंसा के बाद प्रशासन ने एहतियात के तौर पर रांची में शुक्रवार शाम सात बजे से शनिवार सुबह छह बजे तक के लिए इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी गई. 

गौरतलब है कि नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग को लेकर कुछ असामाजिक तत्वों ने मेन रोड पर जमकर हंगामा किया और हनुमान मंदिर तक भारी पथराव और हिंसक संघर्ष किया, जिसमें रांची के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, स्थानीय डेली मार्केट के थानेदार समेत दर्जन भर पुलिसकर्मी एवं अन्य लोग घायल हो गए. भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े और हवा में गोली भी चलानी पड़ी थी. 

रांची के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र कुमार झा ने ‘पीटीआई भाषा’ को बताया, ‘‘आज शहर के मेन रोड इलाके में जुमे की नमाज के बाद एकरा मस्जिद और आसपास के इलाकों से भारी संख्या में जमा उपद्रवियों ने पथराव किया और कुछ स्थानों पर गोलीबारी भी की. स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे और हवा में गोलियां चलाई. स्थिति को नियंत्रित करने में पुलिस प्रशासन को भारी कठिनाई का सामना करना पड़ा.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Designed and Developed by CodesGesture