किसानों की हत्या के आरोपी ‘मंत्री पुत्र’ के खिलाफ 5,000 पेज की चार्जशीट

Reading Time: 2 minutes

लखीमपुर खीरी; लखीमपुर खीरी कांड में आशीष मिश्रा को मुख्य अभियुक्त बनाया गया है। पुलिस ने पांच हजार पन्नों की चार्जशीट दायर की है। चार्जशीट में बताया गया है कि आशीष मिश्रा घटनास्थल पर मौजूद था। आशीष के संबंधी वीरेंद्र शुक्ला पर सबूत छिपाने का आरोप लगाया गया है।

लखीमपुर खीरी मामले में पुलिस ने कोर्ट में पांच हजार पन्नों की चार्जशीट दायर कर दी है। इस चार्जशीट में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को मुख्य आरोपी बनाया गया है। पुलिस के 90 दिनों के भीतर चार्जशीट दायर कर दी है। 6 तारीख को 90 दिन पूरे होने वाले थे। अब इस मामले में कोर्ट में सुनवाई शुरू होने वाली है। इसमें कोर्ट का रुख आरोपियों के खिलाफ क्या रहता है, देखने वाली बात होगी। चार्जशीट में पुलिस ने घटना को सोची-समझी साजिश करार दिया है।

लखीमपुर हिंसा मामले में पुलिस की ओर से दायर चार्जशीट में आशीष मिश्रा को मुख्य अभियुक्त बनाया गया है। पुलिस की चार्जशीट के बारे में सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि घटना के दौरान आशीष मिश्रा एसयूवर थार में मौजूद था। वहीं, उसका एक संबंधी वीरेंद्र शुक्ला घटना के समय स्कॉरपियो में मौजूद था। उसे भी किसानों पर एसयूवी चढ़ाए जाने और हिंसा मामले में आरोपी बनाया गया है। बताया जा रहा है कि वीरेंद्र शुक्ला उनके मामा हैं।

यूपी पुलिस ने अगले दिन आशीष मिश्रा और 12 अन्य को हत्या के आरोपी के रूप में नामजद करते हुए प्राथमिकी दर्ज की थी. लेकिन केंद्रीय मंत्री के बेटे को सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद एक सप्ताह बाद गिरफ्तार किया गया था.

पिछले महीने, एसआईटी ने स्थानीय अदालत को बताया था कि किसानों और पत्रकार की हत्या एक “सुनियोजित साजिश” थी. यह कोई लापरवाही से मौत का मामला नहीं था. साथ ही मांग की गई थी कि आशीष मिश्रा और अन्य के खिलाफ रैश ड्राइविंग के आरोपों को संशोधित किया जाना चाहिए और हत्या के प्रयास और जान बूझकर चोट पहुंचाने का आरोप जोड़ा जाना चाहिए.

आशीष मिश्रा और उनके समर्थकों की ओर से कहा जा रहा था कि 3 अक्टूबर को जब लखीमपुर खीरी के तिकोनिया में हिंसा हुई तो उस समय अजय मिश्रा वहां मौजूद नहीं था। केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी भी बेटे का बचाव करते रहे। वे कहते रहे हैं कि उनके बेटे को फंसाया जा रहा है। वह उनके साथ कार्यक्रम में मौजूद था। सूत्रों से आ रही रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने चार्जशीट में साफ किया है कि आशीष मिश्रा घटना के समय तिकोनिया में मौजूद था। वह अपनी थार एसयूवी में था, जिसने किसानों को कुचला था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related

योगी सरकार में अपराधियों के हौसले बुलंद, डा0 सैय्यद महमूद इंटर कालेज भीतरी के प्रधानाचार्य को बेरहमी से पीटा, हालत गंभीर।

Reading Time: 2 minutes मऊ। सैदपुर भितरी निवासी मेराजुद्दीन प्रधानाचार्य डा सैय्यद महमूद इंटर कालेज भीतरी कार्यरत है विगत रात 25/6/22 को रात्रि 11बजे हमला बोलकर लाठी दण्डों से पीटकर लहुलुहान कर दिया बचाने आये उनके छोटे पुत्र आरिश (12वर्ष) का भी मारकर पैर तोड़ दिया… प्रधानाचार्य मास्टर मेराजुद्दीन की पैतृक ज़मीन पर ठेला लगाने के बहाने संजय गुप्ता […]

दिल्ली: रोहिणी कोर्ट ब्लास्ट केस में एक साइंटिस्ट गिरफ्तार, वकील को मारने के लिए रखा था बम

Reading Time: 2 minutes नई दिल्ली: रोहिणी कोर्ट में लो इंटेसिटी ब्लास्ट ( Low Intensity Blast) मामले में डीआरडीओ (DRDO) के एक वैज्ञानिक का नाम सामने आया है. बताया जा रहा है कि आरोपी वैज्ञानिक ने पड़ोस में रहने वाले वकील को निशाना बनाने के लिए घटना को अंजाम दिया. यह ब्लास्ट 9 दिसम्बर को हुआ था. इस संबंध में दिल्ली पुलिस कमिश्नर के राकेश अस्थाना ने बताया कि स्पेशल […]

error: Content is protected !!
Designed and Developed by CodesGesture