कला, साहित्य, संस्कृति, सियासत, संगीत और नवाचार से महकता गोरखपुर लिटरेरी फेस्ट ‘शब्द संवाद’ 18 और 19 को होटल क्लार्क्स में होगा आयोजित

Reading Time: 4 minutes

👉🏼 प्रवेश होगा निःशुल्क

👉🏼 पूर्वाह्न 11 बजे से शुरू होगा पहला सत्र

👉🏼 देश भर से विभिन्न क्षेत्रों के महारथियों की उपस्थिति से सजे रहेंगे अलग-अलग सत्र

👉🏼 दो दिन के आयोजन में कला, संस्कृति और साहित्य के विभिन्न पहलुओं पर मंथन के साथ गीत-संगीत, नृत्य, नाट्य विमर्श और सियासत के आयामों के भी होंगे दर्शन

👉🏼 नाट्य प्रस्तुति ‘बिदेसिया’ का भी होगा मंचन

👉🏼 काव्य पाठ, बातचीत, मीडिया विमर्श, युवाओं पर केंद्रित सत्र तथा कवि सम्मेलन भी हैं आयोजन के मुख्य अंग

👉🏼 दूसरे दिन विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट कार्य कर रही हस्तियों को सम्मानित करने का है कार्यक्रम

गोरखपुर में साहित्यिक-सांस्कृतिक-सामाजिक विमर्श के प्रमुख कार्यक्रम गोरखपुर लिटरेरी फेस्ट ‘शब्द संवाद’ के चौथे संस्करण का आयोजन दिनांक 18 और 19 दिसंबर को गोलघर के होटल क्लार्क्स इन में होना सुनिश्चित हुआ है। 
आयोजन संचालक मंडल के अध्यक्ष डॉ हर्षवर्धन राय और समन्वयक अचिन्त्य लाहिड़ी तथा कुमार संजय ने यह जानकारी देते हुए बताया कि पहले दिन उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि ‘ ‘सुब्रह्मण्यम भारती पुरस्कार’ और साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मा‍नित प्रख्यात लेखक, कवि, चिंतक प्रो० नंदकिशोर आचार्य होंगे। भारतीय जनसंचार संस्थान, नई दिल्ली के महानिदेशक प्रो० संजय द्विवेदी, प्रो० केसी लाल एवं प्रो० चितरंजन मिश्र सत्र के विशिष्ट अतिथि होंगे । ‘शब्दों की विश्वसनीयता’ विषय पर केन्द्रित इस सत्र  के बाद  ‘स्वराग द बैंड’ की संगीतमय प्रस्तुति होगी। 12:43 से 2:15 तक चलने वाले सत्र जिसका विषय ‘अस्त-व्यस्त जिंदगी से पनपता साहित्य’ है, में अनंत विजय, संजीव पालीवाल तथा प्रभात रंजन जैसे ख्यातिलब्ध हस्ताक्षर अपने विचार व्यक्त करेंगे। 2:20 से शुरू होकर 3:15 बजे तक चलने वाले ‘इंडिया जो भारत है: उपनिवेशवाद, सभ्यता और संविधान’ विषयक संस्कृति सत्र में लेखक एवं वरिष्ठ अधिवक्ता जे० साई दीपक तथा वरिष्ठ पत्रकार आनंद नरसिम्हन चर्चा में शिरकत करेंगे।  बांसुरी वादक यथार्थ पांडेय इसके बाद 3:15 से 3:30 बजे तक बांसुरी वादन प्रस्तुत करेंगे। 3:30 बजे से 5:00 बजे तक ‘सियासत, शरारत, शराफत’ विषयक राजनीतिक सत्र में प्रसिद्ध राजनेता  सुधांशु त्रिवेदी तथा मनोज झा उपस्थित रहेंगे। इसके बाद 5:00 बजे से 5:20 बजे तक जागरूक गोरखपुर संस्था की नृत्य प्रस्तुति ‘महिषासुर मर्दिनी’ का समय सुनिश्चित है। वरिष्ठ रंगकर्मी संजय उपाध्याय तथा सुप्रसिद्ध बॉलीवुड स्क्रिप्ट राइटर अनुराधा तिवारी 5:30 से 6:30 बजे तक चलने वाले सत्र ‘सिनेमा और थिएटर: मौलिकता और रचनाशीलता का खुला कैनवास’ विषयक नाट्य विमर्श में बतौर विशेषज्ञ मौजूद रहेंगे। पहले दिन की अंतिम प्रस्तुति ‘भाई’ के संयोजन तथा मानवेंद्र त्रिपाठी के निर्देशन और राकेश श्रीवास्तव के संगीत से सजी नाट्य प्रस्तुति ‘बिदेसिया’ होगी। 
गोरखपुर लिटरेरी फेस्टिवल के दूसरे दिन अर्थात 19 दिसंबर को 10:00 से 10:40 तक चलने वाले सत्र ‘नई सुबह’ में युवा कवियों द्वारा काव्य प्रस्तुतियां होंगी। तत्पश्चात 10:45 से 11:30 बजे तक सुप्रसिद्ध टीवी जर्नलिस्ट रिचा अनिरुद्ध तथा बॉलीवुड स्क्रिप्ट राइटर अनुराधा तिवारी ‘जिंदगी कैसी यह पहेली’ विषय पर बातचीत करेंगी। सुपरिचित लेखिका पत्रकार गीता श्री तथा  भावना शेखर 11:30 से 1:00 बजे तक चलने वाले साहित्यिक सत्र ‘बोलती औरतों का अनबोला दर्द’ मे सँवाद करेंगी। इसके बाद  1:00 से 2:15 बजे तक ‘भारतीय इतिहास: आक्रमण के हजार वर्ष (940 से 1947)’ शीर्षक इतिहास विमर्श में प्रसिद्ध इतिहासकार एवं लेखक विक्रम संपत मुख्य वक्ता के तौर पर लोगों से रूबरू होंगे। अगला सत्र मीडिया को समर्पित होगा जिसका विषय ‘सत्ता केन्द्रित पत्रकारिता: इतिहास और वर्तमान’ होगा। 2:20 से 3:40 बजे तक चलने वाले इस विमर्श में प्रसिद्ध मीडियाकर्मी आलोक मेहता, बृजेश सिंह एवं आनंद नरसिम्हन वक्तात्रय के रूप में मौजूद रहेंगे। 3:45 से 5:00 बजे तक चलने वाले युवाओं पर केंद्रित सत्र जिसका विषय ‘युवा छौंक: नया क्या है? नई ज़मीन तोड़ने का जुनून’ , में बॉलीवुड म्यूजिक डायरेक्टर विपिन पटवा, युवा उद्यमी श्रेयांश पांडेय, कवियत्री दीपाली अग्रवाल, सामाजिक कार्यकर्ता वैभव मणि त्रिपाठी साहित्यप्रेमियों के बीच उपस्थित रहेंगे। कार्यक्रम के दूसरे दिन 5:15 से 6:45 बजे तक सम्मान समारोह ‘प्राइड ऑफ गोरखपुर एवं गोरखपुर आइकॉन्स’ का आयोजन सुनिश्चित है। इसमें साहित्य, कला, संस्कृति एवं सामाजिक क्षेत्र में विशिष्ट कार्य कर रहे लोगों को सम्मानित किया जाएगा। शब्द संवाद का अंतिम सत्र ‘कवि सम्मेलन’ होगा जो 7:00 बजे से शुरू होकर 9:00 बजे तक चलेगा। इसमें मदन मोहन दानिश, अज्म शाकिरी, कलीम कैसर, रितेश रंजन सहाय, अंकिता सिंह, अबरार काशिफ, रामायण दिवेदी, विनम्र सेन सिंह तथा नुसरत अतीक जैसे ख्यातिप्राप्त कवि तथा शायर मौजूद रहेंगे। सभी सत्रों में प्रवेश निःशुल्क रहेगा।
नरेन्द्र मिश्र 9559681277
आशीष श्रीवास्तव 9580889111 (whatsapp)8851755505 (कॉल)
दिवाकर चतुर्वेदी 9935717378
शुभेन्द्र सत्यदेव 9125526928

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related

‘भूल भुलैया 2’, कार्तिक आर्यन की फिल्म ने छूआ ये जादुईं आंकड़ा

Reading Time: < 1 minute बॉलीवुड अभिनेता कार्तिक आर्यन की फिल्म भूल भुलैया 2 हर दिन बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही है. इस फिल्म को दर्शकों की ओर से काफी प्यार मिल रहा है. यही वजह है कि फिल्म भूल भुलैया 2 रोजाना शानदार कमाई कर रही है. अब कार्तिक आर्यन और कियारा आडवाणी की इस फिल्म ने बॉक्स […]

फिट रहने के लिए करीना कपूर की यह है डाइट

Reading Time: 2 minutes करीना कपूर बॉलीवुड की खूबसूरत और स्टाइलिश एक्ट्रेस में से एक हैं. करीना दो बच्चों को मां हैं, लेकिन उनकी खूबसूरती और फिटनेस अब भी बरकरार हैं नई दिल्ली : करीना कपूर खान बॉलीवुड की खूबसूरत और स्टाइलिश एक्ट्रेस में से एक हैं. करीना दो बच्चों को मां हैं, लेकिन उनकी खूबसूरती और फिटनेस अब भी बरकरार हैं. […]

error: Content is protected !!
Designed and Developed by CodesGesture